ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
बनारस के 32 प्रभारी चिकित्साधिकारियों ने दिया सामूहिक इस्तीफा, दुर्व्यवहार का आरोप, डीएम के आदेश पर भी नाराजगी
August 12, 2020 • जनसंदेश न्यूज • वाराणसी-चंदौली

सीएमओ को सौंपा सामूहिक इस्तीफा

चिकित्सकीय सेवाओं को रखेंगे जारी


जनसंदेश न्यूज़
वाराणसी। प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा बैठकों में स्वास्थ्य कर्मियों के साथ दुर्व्यहार का आरोप लगाकर जिले के 32 प्रभारी चिकित्साधिकारियों ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। सभी प्रभारी चिकित्साधिकारियों ने बुधवार को सीएमओ को अपना लिखित इस्तीफा दिया। हालांकि सभी प्रभारी चिकित्साधिकारियों का कहना है कि वे चिकित्सा-सेवा कार्य करते रहेंगे किंतु किसी पद की जिम्मेदारी ग्रहण करके नहीं। 
प्रभारी चिकित्साधिकारियों का आरोप था कि बैठकों में दुर्व्यहार करने वाले अधिकारियों को अपने टारगेट की ही परवाह रहती है। जबकि स्वास्थ्य कर्मियों के दिन-रात मेहनत को तबज्जो नहीं दी जाती। 
बनारस के 32 चिकित्साधिकारी भेलूपुर स्थित मुख्य चिकित्साधिकारी के कार्यालय पर दोपहर बाद पहुंचे। उन्होंने सीएमओ बीबी सिंह को लिखित सामूहिक इस्तीफा सौंप दिया। इस संदर्भ में उन्होंने एडीएम सिटी द्वारा उनको प्रेषित आरोप पत्र के खिलाफ भी आक्रोश देखा गया। 
इस दौरान चिकित्साधिकारियों ने अपर मुख्य सचिव की बैठक में अनुपस्थित रहने पर मृत एडिशनल मुख्य चिकित्साधिकारी जंगबहादुर को कोविड बार रूम में ड्यूटी लगाने के डीएम के आदेश पर भी नाराजगी जताई। कहा कि डॉक्टर जंग बहादुर दिनरात कर्तव्य कर रहे थे। अस्वस्थता के कारण बैठक में उपस्थित नहीं हो पाए थे। वे हृदय- रोगी थे। डीएम के इस आदेश से काफी दुखी भी थे।