ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली मीरजापुर-सोनभद्र-भदोही जौनपुर-गाजीपुर आजमगढ़-मऊ बलिया इलाहाबाद देश-विदेश करोना वायरस मनोरंजन/लाइफस्टाइल
बनारस : हाईस्कूल में धीरज और इंटर में अक्षय टॉप पर, कोई बुनकर तो कोई ऑटो चालक का है बेटा
June 27, 2020 • जितेन्‍द्र श्रीवास्‍तव • वाराणसी-चंदौली

हाईस्कूल में 85.72 प्रतिशत और इंटर में 77.93 विद्यार्थी हुए सफल

रिजल्ट के लिए करना पड़ा 112 दिनों का इंतजार, घर पर ही टेका मत्था

जितेन्‍द्र श्रीवास्‍तव

वाराणसी। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट परीक्षा-2020 का परिणाम शनिवार को दोपहर में घोषित कर दिया गया। पहली बार इलाहाबाद से नहीं लखनऊ से परिणाम घोषित किया गया। परिणाम घोषित होते ही उत्तीर्ण विद्यार्थी चहक उठे और घर पर ही मत्था टेका। हाईस्कूल में बलदेव इंटर कालेज (बड़ागांव) के धीरज पटेल 92.83 प्रतिशत अंक हासिल कर जिले में टॉप पर रहे। उन्हें 600 में से 557 अंक मिले हैं। जबकि इंटर में शिवचरण स्मारक इंटरमीडिएट कालेज (मेहदीगंज-राजातालाब) के अक्षय कुमार 87.80 प्रतिशत अंक हासिल कर जिले में अव्वल रहे। उन्हेंं 500 में से से 439 अंक मिले हैं।
घोषित परिणाम के अनुसार, हाईस्कूल में प्रभु नारायण राजकीय इंटर कालेज (रामनगर) के विशेष सोनकर व एबी वाजपेयी इंटर कालेज (श्रवणपुर) के करन पाल संयुक्त रूप से 92.16 प्रतिशत (553/600) अंक हासिल कर जिले में दूसरे स्थान हैं। अग्रसेन कन्या इंटर कालेज की सब्या पांडेय 91.83 प्रतिशत (551/600) अंक हासिल कर तीसरे स्थान पर रहीं। जबकि इंटर में धर्म चक्र विहार इंटर कालेज (नवापुरा, सारनाथ) के हर्ष कुमार पटेल 87.60 प्रतिशत (438/500) अंक हासिल कर दूसरे स्थान व एसआईसी (कचनार-राजातालाब) के खुशबू मोदनवाल 85.60 प्रतिशत (428/500) अंक प्राप्त कर तीसरे स्थान पर आने में कामयाब रहे। इस वर्ष हाईस्कूल में 85.72 प्रतिशत और इंटरमीडिएट में 77.93 प्रतिशत विद्यार्थी सफल हुए। जबकि वर्ष 2019 में हाईस्कूल का रिजल्ट 80.95 प्रतिशत तथा इंटर का 75.77 प्रतिशत रहा। इस प्रकार इस वर्ष हाईस्कूल का परीक्षा परिणाम 4.77 प्रतिशत व इंटर का रिजल्ट 2.16 प्रतिशत बढ़ा है। नकल में सख्ती होने के बावजूद गत वर्ष की तुलना में हाईस्कूल व इंटर का रिजल्ट अच्छा रहा। 
परिणाम घोषित होते ही परीक्षार्थियों  के आपस में फोन घनघनाने लगा। एक-दूसरे हो बधाई देने का तांता देर रात तक जारी रहा। इस बार विद्यालयों में परीक्षार्थियों को रिजल्ट दिखाने का कोई प्रबंध नहीं किया गया था। हालांकि कुछ विद्यालयों ने रिजल्ट देखने के लिए अध्यापकों व कर्मचारियों को बुला लिया था। वह आॅनलाइन रिजल्ट देख परीक्षार्थियों को बधाई भी दे रहे थे। इसमें कई कोचिंग संस्थाएं भी शामिल है। रिजल्ट को लेकर इस बार गली-मोहल्लों व कालोनियों में भी गहमागहमी कम दिखी रही। हाईस्कूल व इंटर के कई परीक्षार्थियों को निराशा हाथ लगी। ऐसे कुछ बच्चों के चेहरे मुरझाए नजर आए। हालांकि उनके अभिभावक अपने बच्चों को ढांढस बंधाते रहे।
हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षाएं इस वर्ष 18 फरवरी से शुरू हुई थी। 10वीं की परीक्षाएं तीन मार्च को तथा 12वीं की परीक्षाएं छह मार्च को समाप्त हुई थी। इस वर्ष हाईस्कूल की परीक्षाएं 15 दिन व इंटर की 18 दिनोंं में खत्म हो गई। गत दो वर्ष से बोर्ड ने इंटर में भी सभी विषयों में एक पेपर कर दिया है। यही कारण है कि डेढ़ माह चलने वाली परीक्षाएं 18 दिनों में खत्म हो गई। बोर्ड ने कॉपियों का मूल्यांकन भी 18 मार्च से शुरू कर दिया था। कोविड-19 व लॉकडाउन के चलते बोर्ड को 19 मार्च से मूल्यांकन स्थगित करना पड़ा था। बाद में पांच मई से कई जिलों में मूल्यांकन शुरू कराया गया। जबकि वाराणसी सहित रेड जोन वाले जिलों में 19 मई से दोबारा मूल्यांकन शुरू हुआ। जिले में भी 31 मई तक मूल्यांकन का कार्य पूरा कर लिया गया था। इस बार कोविड-19 के प्रकोप के चलते परीक्षार्थियों को रिजल्ट के लिए 112 दिन लंबा इंतजार करना पड़ा। जबकि वर्ष 2019 में परीक्षा के 56 दिनों के भीतर ही बोर्ड ने रिजल्ट जारी कर दिया था। 

एक नजर जिले में परीक्षार्थियों की संख्या पर


आईएएस बनना चाहते हैं जिले के टॉपर

आॅटो चालक का बेटा है धीरज तो अक्षय है बुनकर का बेटा

वाराणसी। यूपी बोर्ड ने 10वीं और 12वीं कक्षा के नतीजे घोषित कर दिए हैं। हाईस्कूल व इंटर में जिले के टॉपर आईएएस बनना चाहते हैं। हाईस्कूल में टॉप करने वाला छात्र खरगपुर का धीरज पटेल है, जो आगे चलकर आईएएस बनना चाहता है। गरीब परिवार से ताल्लुक रखने वाले धीरज के पिता जयप्रकाश पटेल किराये पर आॅटो लेकर बनारस में चलाते हैं। धीरज ने अपनी सफलता का श्रेय अपने माता-पिता के साथ ही अपने गुरुजनों को दिया है। वहीं, इंटर की परीक्षा में जिले में टॉप करने वाला अक्षय कुमार गणेशपुर का रहने वाला है। उसके पिता भोनू प्रसाद पटेल बुनकर है। अक्षय ने बताया कि वह आगे चलकर आईएएस बनना चहता है। अपने सपने को पूरा करने के लिए उसने अभी से तैयारी शुरू कर दी है। 


मिर्जामुराद प्रतिनिधि के अनुसार, गनेशपुर के बुनकर पिता के पुत्र अक्षय कुमार ने इंटर में जिले में टॉप किया है। यहस् सूचना मिलते ही गांव में खुशी का माहौल हो गया। हर कोई अक्षय की तारीफ करते नहीं थक रहा था। अक्षय ने बताया कि वह रोजाना चार से पांच घंटे पढ़ता था। उसका सपना आईएएस या इंजीनियर बनने का है। मां प्रेमा देवी ने बेटे को गुड़ खिलाकर मुंह मीठा कराया। जबकि शिवचरण स्मारक इंटर कॉलेज के प्रबंधक संजय कुमार पटेल व प्रधानाचार्य तेजपाल सोनी पटेल ने छात्र को कॉलेज परिसर में मिठाई खिलाकर सम्मानित किया। बड़ागांव प्रतिनिधि के अनुसार, चकखरावन (खरगपुर) गांव निवासी धीरज पटेल ने हाईस्कूल में जिले में प्रथम स्थान हासिल किया। उसके पिता जयप्रकाश पटेल किराए पर आॅटो रिक्शा चलाते हैं। उनकी खुशी का ठिकाना नहीं है। दादी अमरावती देवी पति के गुजर जाने के बाद खेती से मेहनत करके अपने बल पर घर चलाती है। मां सुनीता देवी को अपने बेटे पर गर्व है। धीरज ने बताया कि इस उपलब्धि के पीछे गुरुजन, माता-पिता और प्रधानाचार्य रमाशंकर सिंह का आशीर्वाद है। मैं आईएएस बनना चाहता हंू। 


इंजीनियर बनना चाहते हैं विशेष व दिवाकर

वाराणसी। रामनगर प्रतिनिधि के अनुसार, हाईस्कूल में 92.17 प्रतिशत अंक पाकर जिले में दूसरा स्थान हासिल करने वाला विशेष सोनकर आगे चलकर इंजीनियर बनना चाहता है। मात्र ढाई से तीन घंटे की पढ़ाई कर विशेष ने यह मुकाम हासिल किया। गणित उसका पसंदीदा विषय है। उसके पिता का बगीचा है, जहां उपजे फलों का वह व्यवसाय करते हैं। विशेष भी उनके काम मे हाथ बंटाता है। मां भगवानी देवी ग्रहणी है। पिण्डरा प्रतिनिधि के अनुसार, हाईस्कूल में जिले में नौवां स्थान हासिल करने वाले दिवाकर मौर्य भी इंजीनियर बनना चाहते हैं। थाना गांव निवासी किसान संजय मौर्य के पुत्र दिवाकर ने गांव और क्षेत्र का नाम रोशन किया है। 


देश सेवा करना चाहता है हर्ष पटेल

सारनाथ। इंटर में जिले में दूसरा स्थान करने वाला हर्ष पटेल देश सेवा करना चाहता है। उसने बताया कि फिलहाल उसने बीएससी करने का लक्ष्य बनाया है, जिसके लिए बीएचयू, यूपी कॉलेज, काशी विद्यापीठ आदि में प्रवेश के लिए फॉर्म भरा है। पिता महेंद्र पटेल पंखे के एक छोटे से वर्कशॉप पर लेबर के तौर पर काम करते हैं। मां रीता देवी घर का कामकाज देखती हैं। मजदूरी से खाली होकर पिता खेतों में काम करते हैं। हर्ष भी पिता का हाथ खेतों में बटाता है।


अध्यापक बनना चाहता है राजन

चोलापुर। हाईस्कूल की परीक्षा में जिले में चौथा स्थान हासिल करने वाला बरथौली गांव निवासी राजन कुमार अध्यापक बनना चाहताहै। किसान मजदूर अजय कुमार के बेटे राजन के घर जब लोग पहुंचे तो वह गेहूं पीसने चक्की पर गया था। आने पर लोगों ने उसे और उसके माता-पिता को गांव का नाम रोशन करने पर बधाई दिए।


एयरोनॉटिकल इंजीनियर बनना चाहती हैं अनुष्का

सारनाथ। हिरामनपुर की रहने वाली अनुष्का जायसवाल इंटर की परीक्षा में 84.60 प्रतिशत अंक हासिल कर जिले में आठवां स्थान हासिल की हैं। वह एयरोनॉटिकल इंजीनियर बनकर विध्वंशक विमान बनाकर भारत के वायुसेना को सशक्त बनाना चाहती हैं। इनके पिता सुनील कुमार जायसवाल के परचून की दुकान है। 


रिजल्ट देख विद्यार्थियों के चेहरे पर छाई रौनक

चांदमारी। यूपी बोर्ड की हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट का रिजल्ट देखती विद्यार्थियों के चेहरे पर खुशियां छा गयी। विकास इंटर कालेज के मेधावियों ने टॉप टेन रैंक लेकर विद्यालय और अपने परिवार का नाम रौशन किया। हाईस्कूल में आकाश कुमार ने 91.67 प्रतिशत अंक हासिल कर जिले में संयुक्त रूप से चौथी रैंक हाशिल की। खुशी सिंह ने 90.67 अंक हाशिल कर नौंवी रैंक प्राप्त की। वही इंटर में विकास इंटर कालेज परमानंदपुर के किशन विश्वकर्मा ने 83.6 प्रतिशत अंक लेकर जनपद में 10वीं रैक हाशिल की।


इन कॉलेजों का भी रिजल्ट रहा बेहतर
वाराणसी। हाईस्कूल व इंटर के रिजल्ट में इन कॉलेजों का भी बेहतर परफार्मेंस रहा। गुरुनानक खालसा बालिका इंटर कॉलेज गुरुबाग के हाईस्कूल का परीक्षा परिणाम 99.3 प्रतिशत तथा इंटर में विज्ञान वर्ग, वाणिज्य वर्ग में शत-प्रतिशत और कला वर्ग में 99 प्रतिशत रहा। शांति शिक्षा निकेतन इंटर कॉलेज आॅयर का हाईस्कूल का परीक्षाफल 100 प्रतिशत और इंटर का 98 प्रतिशत रहा। मां वैष्णों इंटर कॉलेज भवानीपुर-धरसौना का हाईस्कूल का रिजल्ट 100 प्रतिशत और इंटर का 97 प्रतिशत रहा।