ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
बकरी चराने को लेकर दो परिवार में खूनी संघर्ष, महिला की गई जान, आधा दर्जन से अधिक घायल
August 7, 2020 • रोशन जायसवाल • कानपुर-गोरखपुर

सुरक्षा की दृष्टि से गांव में पुलिस बल तैनात

जनसंदेश न्यूज़
बैरिया/बलिया। थाना क्षेत्र के चांदपुर गांव में गुरुवार की शाम बकरी चराने को लेकर दो परिवारों के बच्चों के बीच हुई मारपीट ने इतना तूल पकड़ लिया कि खूनी संघर्ष हो गया। दोनों पक्षों से चले लाठी-डंडे में एक महिला की जहां संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गई, वहीं सात लोग घायल हो गए। सूचना पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर अंत्य परीक्षण के लिए भेज दिया। जबकि घायलों को अस्पताल भेजा गया है, वहीं तनाव को देखते हुए गांव में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।  
गौरतलब हो कि बीते गुरुवार को उक्त गांव निवासी लोहा मियां का लड़का और अली हुसैन उर्फ सरल का लड़का बकरी चराने गए थे। वहीं दोनों के बीच झगड़ा हो गया। लोगों ने बीचबचाव कर मामले को शांत करा दिया। घर वापस लौटने के बाद शाम 8 बजे के लगभग फिर दोनों पक्ष के बड़े लोगों में लाठी-डंडे चलने लगे। जिसमें एक पक्ष के अली हुसैन, नाजिर और जाकिर तथा दूसरे पक्ष के लोहा मियां, मदिना खातून और अख्तर घायल हो गए। मदिना (50) कुछ ज्यादा ही घायल हो गई थी, अभी लोग उसे अस्पताल ले ही जाते कि तब तक मदिना ने दम तोड़ दिया। घटना के संबंध में पूछे जाने पर एसएचओ संजय त्रिपाठी ने बताया कि मृतक के शव को कब्जे में लेकर अंत्य परीक्षण के लिए भेज दिया है। शांति व्यवस्था के मद्देनजर गांव में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।