ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
अपराधियों में खौफ, एक हफ्ते में दूसरा मुठभेड़, ईनामियां टॉपटेन अपराधी सुल्तान हुआ गिरफ्तार, लगी गोली
August 22, 2020 • वैभव मिश्र • वाराणसी-चंदौली

पुलिस की जवाबी कार्रवाई में अपराधी के पैर में लगी गोली

जनसंदेश न्यूज़ 
चकिया/चंदौली। कोतवाली पुलिस ने शनिवार की अल सुबह टॉपटेन अपराधियों में शामिल समीर उर्फ सुल्तान को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार अपराधी पच्चीस हजार का ईनामियां है, जिसके खिलाफ गैंगस्टर एक्ट, गुंडा एक्ट, आर्म्स एक्ट सहित 16 मुकदमें दर्ज है। पुलिस और बदमाशों की मुठभेड़ कोतवाली के बेलावर गांव के चंद्रावती पहाड़ी के पास हुई। गिरफ्तार अभियुक्त बीते 17 अगस्त को पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ में फरार चल रहा था। 

ज्ञातव्य हो कि बीते 17 अगस्त को कोतवाली पुलिस व बदमाशों के बीच सेमरही बाबा वनभीषमपुर के जंगल में मुठभेड़ हुई। जिसमें पुलिस ने टॉपटेन अपराधी आशिक को गिरफ्तार किया। वहीं उसका साथी समीर उर्फ सुल्तान अंधेरे का फायदा उठाकर फरार हो गया। जिसके बाद से ही पुलिस ने उक्त अपराधी की गिरफ्तारी के लिए जाल बिछा रही थी। 

कोतवाली पुलिस को शनिवार की तड़के मुखबिर द्वारा सूचा मिली कि फरार इनामिया अपराधी सुल्तान चंद्रावती पहाड़ी के पास किसी घटना को अंजाम देने के लिए रणनीति बना रहा है। उन्होंने तत्काल कोतवाल रहमतुल्लाह खां और पुलिस टीम के साथ पहाड़ी के पास घेराबंदी कर दी। घेराबंदी देख सुल्तान पहाड़ी की तरफ भागने लगा और पुलिस के उपर फायर झोंक दिया। 

जवाबी कार्रवाई में भी पुलिस ने भी गोली चलाई। जो सुल्तान के दाहिने पैर में लगी, जिससे घायल होकर पहाड़ी पर गिर गया। पुलिस अभियुक्त को गिरफ्तार कर उपचार के लिए जिला संयुक्त चिकित्सालय चकिया भेजवाया। वहीं घटनास्थल से अवैध कट्टा, दो जिंदा कारतूस और एक खोखा बरामद किया।

कई मामलों में है वांछित
सीओ जगत राम कन्नौजिया ने बताया कि गिरफ्तार अभियुक्त सुल्तान के खिलाफ चकिया सहित आसपास के कई थानों में गैंगस्टर एक्ट, गुंडा एक्ट, आर्म्स एक्ट सहित 16 मुकदमों में मुकदमें दर्ज है। 

अपराधियों के खौफ बने चकिया कोतवाल
चकिया कोतवाल रहमतुल्लाह खां अपराधियों के लिए खौफ बने हुए है। बीते एक हफ्ते में यह दूसरा मुठभेड़ है। बीते 17 अगस्त को आशिक को मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार किया तो आज उसके साथी को भी दबोच लिया। वहीं इसके पहले 14 जून को वनभीषपुर जंगल में हुए मुठभेड़ के दौरान कैमूर बिहार निवासी पशु तस्कर उमेश शर्मा को भी पकड़ा था। अपराधियों के खिलाफ चकिया कोतवाली पुलिस की लगातार चल रही कार्रवाई से अपराधियों में खौफ का माहौल बना हुआ है।