ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
58 सपा कार्यकर्ताओं पर मुकदमा दर्ज, गिरफ्तारी के लिए अभियान तेज, पुलिस और सपा कार्यकर्ताओं में हुई थी झड़प
September 15, 2020 • अजय सिंह उर्फ राजू • पूूर्वांचल

बेरोजगारी और अपराध के खिलाफ उठाई थी आवाज



जनसंदेश न्यूज 
गाजीपुर। बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, महंगाई और अपराध के खिलाफ कलेक्ट्रेट पर सपा कार्यकर्ताओं द्वारा प्रदर्शन को लेकर पुलिस ने आठ नामजद सहित करीब पच्चास अज्ञात लोगों पर मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस ने सभी की गिरफ्तारी के लिए कार्रवाई शुरू कर दी है। दरअसल, सोमवार को सपा सुप्रीमो के निर्देश पर कार्यकर्ताओं ने सरकार की नीतियों के खिलाफ जमकर धरना प्रदर्शन किया। इस दौरान पुलिस के साथ कुछ लोगों से नोंकझोंक हो गई थी। वहीं काफी संख्या में कार्यकर्ताओं द्वारा कलेक्ट्रेट परिसर में प्रदर्शन किया गया था। जिसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज कर भीड़ को तितर बितर किया।   

सपा सुप्रीमो के निर्देश पर सपा युवजन, लोहिया, छात्र सभा तथा यूथ ब्रिगेड के पदाधिकारी संयुक्त रूप से सोमवार को समता भवन में एकत्र होकर बेरोजगारी और अपराध तथा किसानों की समस्या को लेकर डीएम को ज्ञापन देने जा रहे थे। इस दौरान सपा कार्यकर्ता कलेक्ट्रेट परिसर की ओर बड़ी संख्या में जाने लगे। जिसको पुलिस ने रोकना चाहा मगर वह नहीं रूकें, डीएम को पत्रक देने के लिए डटे रहे। पुलिस ने चार से पांच लोगों को जाने की इजाजत दिया लेकिन कार्यकर्ता नहीं माने। 

इसी बीच सपाइयों और पुलिस में कहासुनी होने लगी। पुलिस ने लाठियां भांजकर कार्यकर्ताओं को तितर-बितर किया। जिसमें कई कार्यकर्ता घायल हो गए। बावजूद कार्यकर्ताओं ने कलेक्ट्रट परिसर के पास ही धरना पर बैठकर सरकार विरोधी नारे लगाने लगे। जिसके बाद एसडीएम प्रभास कुमार ने कार्यकर्ताओं की मांग पत्रक को लेते हुए, सभी को समझा बुझाकर मामला शांत कराया। मंगलवार को पुलिस ने सपा कार्यकर्ताओं द्वारा नियम तोड़ने व पुलिस से नोकझोक में आठ नामजद सहित अज्ञात चालिस से पचास लोगों पर मुकदमा दर्ज कर तलाश शुरू कर दिया है। कोतवाल दिलीप सिंह ने बताया कि सभी लोगों की जल्द गिरफ्तारी हो जाएगी।

भाजपा के खिलाफ सड़क पर उतरेगी सपा
पूर्व जिलाध्यक्ष राजेश कुशवाहा ने कहा कि सपा कार्यकर्ताओं पर मुकदमा दर्ज करना राजनीतिक द्वेष का एक हिस्सा है। भाजपा के खिलाफ सपा अब पूरी तरह से कमर कस चुकी है। जनता को उसका अधिकार दिलाने के लिए सपा कार्यकर्ता सड़को पर उतरेंगे और लोकतांत्रिक तरीके से अपनी बात कहेंगे। सपा की सरकार आने पर जितनी भी अकल्याणकारी योजनाएं है उसको समाप्त करेंगी। भाजपा सरकार अपनी नाकामी को छुपाने के लिए कार्यकर्ताओं पर जो फर्जी मुकदमा लगा रही है, वह निंदनीय है। भाजपा जो दमन के रास्ते पर चल रही है, आने वाले समय में जनता इसका जवाब देगी।